Web Hosting क्या है? (what is web hosting in Hindi) 2021

Rate this post

Web hosting क्या है (what is web hosting in hindi) और web hosting काम कैसे करती है in hindi बहुत से लोगों को यह नहीं पता खासकर वह जो अभी website बनाना सीख रहे हैं या सीखना चाहते हैं तो आज की इस article में हम आपको बताने वाले हैं की hosting क्या है यह कितने प्रकार की होती है यह काम कैसे करती हैं और आप web hosting कैसे खरीद सकते हैं।

अगर आप यह सोच रहे हैं कि website बनाना बहुत ही आसान है तो ऐसा बिल्कुल भी नहीं है अगर आपने domain name और web hosting buy कर ली तो आप सोच रहे होंगे कि अब आसानी से वेबसाइट बन जाएगी ऐसा बिल्कुल भी नहीं है वेबसाइट बनाने के लिए और भी बहुत से कार्य करने पड़ते हैं जैसे website design करना, बहुत से ऐसे plugin है जिन्हें आपको install करना होता है और setup करना होता है तब जाकर आप की वेबसाइट proper work करने लगती है।

दोस्तों अगर आप वेबसाइट बनाना सीख रहे हैं यह जानने से पहले की web hosting क्या होती है इससे पहले हमारा पुराने वाला आर्टिकल पढ़ ले की domain name क्या होता है।

Domain name खरीदने के बाद हमें जिस चीज की सबसे अधिक आवश्यकता होती है वह है web होस्टिंग क्योंकि वेब होस्टिंग के द्वारा ही हमारी website live हो पाती है और इंटरनेट पर लोगों को दिखाई देने लगती है।

आज का यह लेख हम उन लोगों के लिए लिख रहे हैं जिन्होंने अभी blogging नई-नई शुरू की है और उन्हें यह नहीं पता कि हमें कौन सी web hosting खरीदनी चाहिए क्योंकि नए blogger को web hosting के बारे में अधिक जानकारी नहीं होती तो वह गलत web hosting चुन लेते हैं जिसके लिए बाद में उन्हें परेशानियों का सामना करना पड़ता है।

इसलिए इस लेख में हम आपको hosting meaning in hindi के बारे में भी बताएंगे।

वेब होस्टिंग क्या है? (what is web hosting in Hindi)

क्या आप जानते हैं वेब होस्टिंग क्या होती है मेरे ख्याल से अधिकतर लोग जानते होंगे कि web hosting क्या है।

अगर आप कोई भी वेबसाइट बनाते हो उसमें आप बहुत सा content डालते हो जैसे images, pages, video, posts, और भी ऐसी बहुत सी files हैं जो आप अपनी वेबसाइट पर upload करते हो यह files या content  आपके hosting server पर ही save होता है।

अगर हम इसे आसान भाषा में समझे तो हम यह कह सकते हैं कि अगर आपकी वेबसाइट का domain name आपकी वेबसाइट का address है तो hosting आपकी वेबसाइट का घर है क्योंकि यहीं पर आपकी वेबसाइट का data save होता है।

यह एक तरह का computer होता है जो कि 24 घंटे internet से जुड़ा रहता है और चलता रहता है इसीलिए जब भी आप वेबसाइट को access करते हैं तो वह लाइव रहती है।

अब आप यह सोच रहे होंगे कि हमें वेब होस्टिंग परचेंज करने की क्या जरूरत है क्यों ना हम इसे अपने घर पर ही setup कर ले हमारे पास कंप्यूटर है इंटरनेट कनेक्शन है आप इसे आसानी से अपने घर पर बना सकते हैं लेकिन दोस्तों इसे बनाने में बहुत खर्च आता है और इसे मेंटेन करने का खर्च उससे भी अधिक होता है क्योंकि यहां पर हमें 24 घंटे कंप्यूटर को चलते छोड़ना पड़ता है और इंटरनेट कनेक्शन भी हमें फास्ट लेना पड़ता है इसके साथ समय-समय पर server को upgrade और mantain भी करना पड़ता है।

इसे अच्छा क्यों ना हम किसी hosting service provider से होस्टिंग खरीद ले ताकि हमें ज्यादा खर्चा ना करना पड़े ऐसे बहुत से होस्टिंग प्रोवाइडर हैं जो बहुत सस्ते दामों में hosting provide करते हैं जैसे Hostinger, Godaddy, Namecheap, Hostgator, Bluehost, Cloudway इत्यादि।

यह वह होस्टिंग प्रोवाइडर हैं जहां से हम hosting खरीद सकते हैं और अपनी वेबसाइट को host कर सकते हैं।

Also Read:-

Web hosting कैसे काम करती है? (How web hosting works in Hindi)

हम जो भी अपनी वेबसाइट पर content डालते हैं वह कंटेंट हमारी web hosting में save होता रहता है।

जब भी कोई भी visitor हमारी वेबसाइट पर visit करना चाहता है तो वह अपने laptop के web browser में हमारी वेबसाइट का नाम डालता है जैसे inhindiblog.com और जैसे ही enter पर क्लिक करता है तो हमारा domain name DNS(Domain Name System) को सर्च करता है जिससे उसे यह पता लग जाता है कि हमारी वेबसाइट किस server पर host है और वह हमारी वेबसाइट के data को visitor के कंप्यूटर स्क्रीन पर दिखने लगता है।

अब आप यह सोच रहे होंगे कि DNS क्या है?

जब भी हम domain name को web hosting के साथ जोड़ते हैं तो हमें वेब होस्टिंग के द्वारा nameserver दिया जाता है जिसे हमें अपने domain के DNS में कॉन्फ़िगर करना होता है  ताकि domain name और hosting आपस में कनेक्ट रह सकें और हमारे domain को यह पता चल सके कि हमारी वेबसाइट किस server पर host है।

Web hosting कितने प्रकार की होती है? (Types of web hosting in Hindi)

दोस्तों, आपने यह तो जान ही लिया होगा कि web hosting क्या होती है और यह कैसे काम करती है अब हम आपको यह बताने जा रहे हैं कि वेब होस्टिंग कितने प्रकार की होती है अगर आप web hosting खरीदना चाहते हैं तो इससे पहले आपको यह पता होना चाहिए कि hosting कितने प्रकार की होती है और हमें कौन सी होस्टिंग अपने लिए जरूरत के हिसाब से सेलेक्ट करनी है तो मुख्य रूप से अगर हम बात करें तो web hosting चार प्रकार की होती है जो नीचे दी गई है।

  • Shared hosting
  • Dedicated hosting
  • VPS hosting
  • Cloud hosting

Shared web hosting

Shared hosting वह होस्टिंग होती है जिसमें बहुत सी वेबसाइट एक ही server पर host की जाती हैं इसका मतलब यह है कि एक ही web server की ram, cpu, space का इस्तेमाल बहुत सी वेबसाइट द्वारा किया जा रहा होता है।

इसे आसानी से समझने के लिए एक उदाहरण के तौर पर हम मान लेते हैं कि जैसे आप कहीं ट्रैवल करना चाहते हैं तो आप ola या uber की shared taxi book करते हैं इस taxi में आप अकेले नहीं होते आप टैक्सी दूसरे लोगों के साथ शेयर कर रहे होते हैं और दूसरे लोग भी उस टैक्सी में travel कर रहे होते हैं।

इसी तरह से share hosting में भी बहुत सी वेबसाइट एक ही server को share कर रही होती हैं और उसके resources का इस्तेमाल कर रही होती हैं।

Blogger post के permalink या url से date और .html कैसे हटाए?

Shared hosting का इस्तेमाल किन लोगों को करना चाहिए?

Shared hosting का इस्तेमाल उन लोगों के लिए एक अच्छा विकल्प है जो अभी blogging करना स्टार्ट कर रहे हैं या जिनका बिजनेस बहुत छोटा है और कम विजिटर विजिट करते हैं अगर आप एक नया blog बनाने की सोच रहे हैं तो आप लोगों के लिए भी यह बहुत अच्छा विकल्प है आप भी शेयर्ड होस्टिंग का इस्तेमाल कर सकते हैं।

क्योंकि shared hosting में हमें कुछ लिमिटेड रिसोर्सेस ही इस्तेमाल करने को मिलते हैं इसलिए यह सिर्फ उन लोगों के लिए अच्छा है जो अभी ब्लॉगिंग स्टार्ट कर रहे हैं  अगर आप की वेबसाइट पर ट्रैफिक बहुत अधिक है तो यह होस्टिंग आपके लिए बिल्कुल भी नहीं है।

Shared होस्टिंग का इस्तेमाल करने के लाभ?

  • shared hosting हमें सस्ते में मिल जाती है।
  • छोटी वेबसाइट के लिए यह बहुत बढ़िया होस्टिंग है।
  • शेयर्ड होस्टिंग के control panel का इस्तेमाल करना बहुत ही आसान है।
  • New लोग जो अभी-अभी blogging सीख रहे हैं उनके लिए इस होस्टिंग को setup करना भी बहुत ही आसान है।

Shared hosting के क्या नुकसान है?

  • Shared होस्टिंग मे हमें बहुत ही कम रिसोर्सेज इस्तेमाल करने को मिलते हैं।
  • अगर आप की वेबसाइट पर अधिक ट्रैफिक आने लग जाए तो यह होस्टिंग उसे संभाल नहीं पाती और आपकी वेबसाइट crash हो जाती है।
  • Shared होस्टिंग के साथ आपकी वेबसाइट बिल्कुल भी secured नहीं होती क्योंकि यहां पर बहुत सी वेबसाइट एक साथ एक server पर host होती हैं।
  • shared होस्टिंग आपको कम दाम में प्रोवाइड कराई जाती है इसलिए इस hosting में आपको customer support भी नाम मात्र ही प्रदान की जाती है।
  • इस होस्टिंग में आपकी वेबसाइट की performance भी उतनी अच्छी नहीं होती क्योंकि यहां पर बहुत सी वेबसाइट एक ही सर्वर को शेयर कर रही होती हैं।

WordPress पर webp format images कैसे अपलोड करें? without plugin

Dedicated web hosting 

Dedicated hosting वह होस्टिंग होती है जिसे किसी भी तरह से शेयर नहीं किया जाता इस होस्टिंग पर केवल उसी एक ही वेबसाइट की files या data स्टोर किया जाता है जो इस होस्टिंग पर host की जाती है मतलब यह है कि अगर आप Dedicated web hosting खरीदते हो तो उस server पर आप ही की वेबसाइट की फाइल स्टोर की जाएंगी अन्य किसी दूसरी वेबसाइट के साथ आपके web server को शेयर नहीं किया जाएगा।

यह होस्टिंग आपको महंगी जरूरत पड़ती है लेकिन यह सबसे secured और fast hosting होती है।

उदाहरण के लिए मान लीजिए अगर आप ola या uber की private taxi service book बुक करते हैं तो उस टैक्सी में केवल आप अकेले ही ट्रैवल करते हैं आप उस टैक्सी को किसी के साथ शेयर नहीं करते उसी तरह से डेडीकेट होस्टिंग भी किसी अन्य वेबसाइट के साथ शेयर नहीं की जाती इसके पूरे server पर सिर्फ आपकी ही वेबसाइट का अधिकार होता है।

Dedicated web hosting का इस्तेमाल किनके लिए एक बेहतर विकल्प है?

Dedicated होस्टिंग का इस्तेमाल उन लोगों द्वारा किया जाता है जिनकी वेबसाइट पर बहुत heavy traffic आती है इस होस्टिंग का इस्तेमाल खासकर वह वेबसाइट करती हैं जो बहुत हैवी होती हैं जिन पर बहुत अधिक मात्रा में फाइल अपलोड की जाती हैं जैसे ecommerce site like Amazone, Snapdeal, Flipkart यह सभी वेबसाइट इसी होस्टिंग का इस्तेमाल करती हैं अगर आपकी भी कोई ecommerce site है तो आप भी डेडीकेटेड होस्टिंग का इस्तेमाल कर सकते हैं

GeneratePress theme में comment form से url कैसे remove करें?

Dedicated hosting का इस्तेमाल करने से हमें क्या लाभ होता है?

  • इस होस्टिंग पर आपकी website की speed fast रहती है और वह कभी भी डाउन नहीं होती।
  • इस होस्टिंग में आपको बहुत अधिक security प्रदान की जाती है।
  • Dedicated होस्टिंग मे फुल control आपके हाथ में होता है जिस कारण आप इसे आसानी से मैनेज कर पाते हैं।

Dedicated होस्टिंग का इस्तेमाल करने से हमें क्या नुकसान उठाना पड़ता है?

  • सबसे पहला नुकसान हमें यह होता है कि यह होस्टिंग बहुत महंगी होती है
  • अगर आपको technical knowledge नहीं है तो आपके लिए इसे मैनेज करना आसान नहीं होता अगर इसमें कोई भी technical error आ जाए तो आप उसे भी आसानी से solve नहीं कर पाएंगे।

VPS (Virtual Private Server)

VPS hosting मे एक server को बहुत से parts में virtual तरीके से डिवाइड कर दिया जाता है और सभी वेबसाइट को अपना अलग-अलग स्थान उस सरवर पर मिल जाता है जिस वेबसाइट को जितना स्थान उस server पर मिलता है वह सिर्फ उसी वेबसाइट के लिए होता है कोई भी दूसरी वेबसाइट उस स्थान का इस्तेमाल नहीं कर सकती।

तो चलिए इसे आसान भाषा में समझते हैं अगर आपके घर में मान लीजिए 5 कमरे हैं और पांच ही सदस्य हैं सभी को अपना एक-एक कमरा दे दिया जाता है और वह व्यक्ति उस कमरे का इस्तेमाल करता है जिसे वह कमरा मिला होता है दूसरा व्यक्ति उस कमरे का इस्तेमाल नहीं कर पाता।

इसी तरह VPS होस्टिंग मे भी आपकी वेबसाइट को कुछ स्थान और resources मिल जाते हैं जिसे कोई दूसरी वेबसाइट इस्तेमाल नहीं कर पाती उन पर पूर्ण रूप से आपकी वेबसाइट का अधिकार होता है।

Virtual Private Server को आपको किसी के साथ share नहीं करना पड़ता इसलिए इसमें  आपको वेबसाइट की स्पीड भी अधिक मिलती है और आपकी वेबसाइट की सिक्योरिटी भी अधिक होती है।

अगर आप कम पैसों में Dedicated hosting जैसा लाभ उठाना चाहते हैं तो vps hosting लेना आपके लिए एक अच्छा निर्णय है यह आपके लिए ध्यान देने वाली बात है कि vps होस्टिंग में भी कुछ लिमिटेशन होती है।

GeneratePress के permalink मे आने वाले #more को कैसे हटाए?

VPS hosting का इस्तेमाल किन लोगों को करना चाहिए ?

अगर आपका blog नया है आपकी website पर कम traffic आ रही है तो तब भी आप इस होस्टिंग का इस्तेमाल कर सकते हैं क्योंकि इससे आपकी वेबसाइट की speed अधिक रहेगी और वह फास्ट ओपन होगी जिससे आपकी वेबसाइट गूगल में रैंक करेगी इस होस्टिंग का इस्तेमाल कोई भी कर सकता है क्योंकि यह डेडिकेट होस्टिंग जितनी महंगी नहीं होती।

VPS hosting को इस्तेमाल करने के क्या लाभ हैं?

  • इस होस्टिंग को इस्तेमाल करने से आपकी वेबसाइट की performance अच्छी मिलती है और वह फास्ट ओपन होती है।
  • इस hosting में आपको अच्छी security मिलती है।
  • इसमें आपको customer support भी अच्छी मिलती है।
  • यह होस्टिंग डेडीकेट होस्टिंग से सस्ती होती है इसलिए कोई भी इसे इस्तेमाल कर सकता है लेकिन इसे इस्तेमाल करना डेडीकेट होस्टिंग जैसा ही होता है।

VPS hosting के इस्तेमाल से आपको क्या नुकसान होता है?

  • इस होस्टिंग में आपको dedicated hosting से कम resources इस्तेमाल करने को मिलते हैं।
  • इसे भी मैनेज कर पाना बहुत ही मुश्किल होता है  क्योंकि इसे भी मैनेज करने के लिए आपको technical knowledge होना आवश्यक है।
  •  इस होस्टिंग में भी कुछ limitation होते हैं।

बिना Plugin के GeneratePress में social share button कैसे बनाएं?

Cloud hosting in Hindi

वैसे तो जो हमें VPS hosting या dedicated hosting मे जो resourses मिलते हैं वह एक साधारण वेबसाइट के लिए बहुत अधिक होते हैं जिनका पूर्ण इस्तेमाल कर पाना बहुत मुश्किल होता है लेकिन कभी-कभी किसी वेबसाइट का कोई content वायरल हो जाता है जिस कारण अधिक ट्रैफिक आने लगती है तो फिर उस ट्रैफिक को VPS होस्टिंग या dedicated होस्टिंग द्वारा संभाल पाना मुश्किल हो जाता है जिस कारण हमें Cloud होस्टिंग की आवश्यकता पड़ती है।

Cloud hosting मे आपकी वेबसाइट को बहुत सारे powerful servers मिलकर host करते हैं  जिस कारण आपकी वेबसाइट कभी डाउन नहीं होती और एक अच्छी स्पीड मिलती है।

आज के टाइम में बहुत से लोग अपनी वेबसाइट की performance और website speed को बनाए रखने के लिए cloud होस्टिंग का इस्तेमाल कर रहे हैं क्योंकि यह होस्टिंग अधिक से अधिक ट्रैफिक को भी संभाल सकती है।

लेकिन Cloud होस्टिंग को आप dedicated होस्टिंग की तरह control नहीं कर सकते और इस होस्टिंग में आपको अधिक technical knowledge की भी आवश्यकता नहीं होती।

Cloud hosting का इस्तेमाल किन लोगों को करना चाहिए?

जिन लोगों की वेबसाइट पर अधिक ट्रैफिक आती है जिस कारण उनकी वेबसाइट crash हो जाती है उन लोगों को क्लाउड होस्टिंग का इस्तेमाल करना चाहिए अगर आप blogging में new हैं लेकिन अगर आप cloud hosting के लिए पैसा खर्च कर सकते हैं तो आप भी इसका इस्तेमाल करें क्योंकि इसमें टेक्निकल नॉलेज की आवश्यकता नहीं होती और इसे मैनेज कर पाना आसान है

Cloud hosting को इस्तेमाल करने से हमें क्या लाभ होता है?

  • यह होस्टिंग अधिक से अधिक traffic को handel कर पानी में सक्षम है।
  • इस होस्टिंग को manage करने के लिए technical knowledge की भी आवश्यकता नहीं होती।
  •  इस होस्टिंग पर आपकी website speed कभी भी slow नहीं होती आपकी वेबसाइट हमेशा fast load होती है जिससे आपकी वेबसाइट पर विजिट करने वाले को इंतजार नहीं करना पड़ता।

Cloud hosting के इस्तेमाल से हमें क्या नुकसान होता है?

  • Cloud होस्टिंग को खरीदने के लिए हमें अधिक पैसा खर्च करना पड़ता है जो कि हमें बहुत ही महंगी पड़ती है।
  • Cloud होस्टिंग में आपको डेडीकेट होस्टिंग जैसा कंट्रोल नहीं मिलता है।

Add Author box in Generatepress theme without plugin in hindi

Hosting खरीदते समय हमें किन बातों का ध्यान रखना चाहिए?

Hosting provider आपको अलग-अलग features के साथ आपको अलग-अलग plan देते हैं  जिनमें से आप अपनी आवश्यकता के अनुसार कोई भी plan select कर सकते हैं लेकिन कुछ लोगों को यह नॉलेज नहीं होती कि कौन सा plan select किया जाए तो हम आपको नीचे कुछ basic जानकारी प्रदान करने जा रहे हैं जिससे आपको होस्टिंग plan सेलेक्ट करने में आसानी होगी जब भी आप web hosting buy करना चाहेंगे तो यह जानकारी आपके काम आएगी।

SSD Storage: यह वह जगह होती है जहां पर आपकी वेबसाइट का डाटा स्टोर होता है जैसे आपकी वेबसाइट पर अपलोड की जाने वाली files, video, images या और भी ऐसे बहुत से डाटा जो आप अपनी वेबसाइट पर अपलोड करते हो यहां पर आपको यह ध्यान रखना है कि आप अपनी जरूरत के हिसाब से plan चुने या हो सके तो unlimited disk space वाला ही प्लान चुने जिससे आपको आगे चलकर किसी भी परेशानी का सामना ना करना पड़े।

Bandwidth: Bandwidth वह होती है जिसमें आपकी वेबसाइट पर एक समय में कितने विजिटर visit कर सकते हैं अगर आपकी वेबसाइट की Bandwidth कम है तो आपकी वेबसाइट पर एक समय में ज्यादा विजिटर ने विजिट कर लिया तो आपकी वेबसाइट या तो डाउन हो जाएगी या क्रैश हो जाएगी इसलिए हमें यह ध्यान रखना चाहिए कि हम जब भी होस्टिंग परचेंज करें तो Unlimited Bandwidth वाला plan ही select करें।

Uptime: uptime वह होता है जितने टाइम तक आपकी वेबसाइट online visitor के लिए avaliable रहती है इसका मतलब यह है कि आप की वेबसाइट कितना टाइम down  और कितना टाइम लाइव रहती है आजकल आप जिस भी होस्टिंग provider से होस्टिंग खरीदेंगे वह आपको 99.9% तक uptime रहने की guarantee देते हैं लेकिन ऐसा होता नहीं है आप किसी अच्छे होस्टिंग प्रोवाइडर से ही होस्टिंग buy करें।

Customer support: यह ध्यान रखना आपके लिए बहुत ही आवश्यक है कि जब भी आप कोई होस्टिंग खरीद रहे हो तो उस होस्टिंग कंपनी के बारे में पता कर ले कि उनका customer support कैसा है क्योंकि बहुत सी कंपनियां 24×7 customer support देने का वादा तो करती हैं लेकिन दे नहीं पाती कस्टमर सपोर्ट हमारे लिए बहुत ही आवश्यक है क्योंकि अगर कभी भी हमारी वेबसाइट में किसी भी तरह की परेशानी आती है तो उसे जल्दी से हल करने के लिए हमें अच्छे customer support की आवश्यकता पड़ती है।

Backup: जब भी हम कोई वेबसाइट बनाते हैं तो उसमें बहुत सी फाइलें upload की जाती हैं जो कि हमारे hosting provider के पास host होती हैं लेकिन कभी-कभी आपकी वेबसाइट की यह फाइलें crash हो सकती हैं इसलिए आपको यह ध्यान रखना चाहिए कि जब भी आप होस्टिंग buy करें तो उसमें आपको backup लेने का option अवश्य मिले ताकि अगर आपकी वेबसाइट की फाइलें डिलीट हो जाए तो आप उसे recover कर सकें।

WordPress क्या है और WordPress कैसे Install करते हैं?

Linux vs windows hosting मे क्या अंतर है? 

क्या आपको पता है linux vs windows hosting मे क्या अंतर है यह दोनों होस्टिंग एक ही तरह की होती हैं आप इन दोनों होस्टिंग का इस्तेमाल कर सकते हैं लेकिन आपको linux hosting थोड़ा सस्ता पड़ता है लेकिन windows होस्टिंग आपको महंगा पड़ता है क्योंकि windows hosting के लिए कंपनी को license लेना पड़ता है जिसके लिए उसे पैसा खर्च करना पड़ता है इसलिए windows होस्टिंग महंगी होती है अगर linux होस्टिंग की बात करें तो यह सस्ती इसलिए होती है क्योंकि यह एक open source operating system linux होता है जिसके लिए किसी भी तरह के license लेने की आवश्यकता नहीं होती और कंपनी को पैसा भी नहीं देना पड़ता।

Linux और windows web होस्टिंग दोनों ही बहुत बढ़िया hosting है लेकिन linux होस्टिंग मे आपको windows होस्टिंग के मुकाबले अधिक security मिलती है और linux होस्टिंग में अधिक features भी होते हैं टेक्निकल नॉलेज रखने वाले अधिक लोग linux hosting का इस्तेमाल करते हैं।

Domain name और web hosting मे क्या अंतर है? (Domain name vs web hosting)

बहुत सी कंपनियां Domain name और web hosting को एक साथ सेल करती हैं जिससे लोग इन्हें एक साथ समझते हैं लेकिन हम आपको बता देना चाहते हैं कि Domain name और web hosting दोनों ही अलग-अलग चीजें हैं।

अगर इसे आसानी से समझे तो Domain name आपकी वेबसाइट का address है और होस्टिंग आपकी वेबसाइट का एक घर है जिसमें आपकी वेबसाइट का data save रहता है।

Blogger vs WordPress में क्या अंतर है in Hindi

Web hosting कहां से खरीदें?

वैसे तो बहुत सी कंपनियां web होस्टिंग sale करती हैं लेकिन आपको यह ध्यान रखना है कि  किसी अच्छी कंपनी से ही हमेशा web hosting buy करें हम आपको कुछ कंपनियों के नाम बता रहे हैं जा रहे हैं जहां से आप web hosting buy कर सकते हैं जहां पर आपको customer support और uptime अच्छा मिलेगा जैसे hostinger, namecheap, hostgator, cloudway, bluehost इत्यादि ऐसी और भी बहुत सी कंपनी है जहां से आप होस्टिंग buy कर सकते हैं।

होस्टिंग buy करने से पहले आप सभी कंपनियों पर hosting plans, features, offers चेक कर ले और जहां से आपको अधिक features के साथ अच्छी होस्टिंग कम दाम में मिल रही हो वहीं से hosting खरीदें।

होस्टिंग खरीदते समय सभी कंपनियां आपको पेमेंट करने के लिए credit card, debit card या paypal से payment करने का option प्रदान करती हैं लेकिन कुछ indian होस्टिंग company आपको upi id से या paytm जैसे wallet से बी payment करने का option प्रदान करती हैं।

हम आपको सलाह देंगे कि अगर आप hosting खरीदना चाहते हैं तो hostinger से ही खरीदें क्योंकि यहां पर अच्छी होस्टिंग आपको सस्ते में मिल जाएगी हमारा ब्लॉक भी hostinger पर ही host है।

Hosting पर आपको customer support भी अच्छा मिलता है और यहां पर बहुत से offers भी आपको मिल जाते हैं अगर आप एक नया blog शुरू कर रहे हैं तो आप hostinger से shared होस्टिंग सस्ते में खरीद सकते हैं।

Custom Domain Name को blogger मे setup कैसे करें?

Hostinger से होस्टिंग कैसे खरीदें? (how to buy hosting from hostinger)

अब हम आपको बताने वाले हैं कि आप किस तरह से hostinger से shared hosting खरीद सकते हैं क्योंकि यह लेख हम उन लोगों के लिए लिख रहे हैं जो अभी blogging में नए हैं जिन्हें होस्टिंग के बारे में नहीं पता तो अगर वह लोग नया blog शुरू कर रहे हैं तो उनके लिए shared hosting एक अच्छा विकल्प है तो इसलिए हम यहां पर आपको बताएंगे कि आप शेयर होस्टिंग कैसे खरीद सकते हैं।

  • सबसे पहले hosting.in को अपने web browser में ओपन करें।
  • अब आपको राइट साइड पर ऊपर होस्टिंग का menu दिखाई देगा उस पर क्लिक करें।
  • अब एक dropdown-menu खुल जाएगा वहां पर आपको sharded web होस्टिंग लिखा हुआ दिखाई देगा उस पर क्लिक कर दें।
  • अब थोड़ा नीचे scroll करें आपको यहां पर कुछ plans दिखाई देंगे जो इस प्रकार हैं।
  1. Single Web होस्टिंग
  2. Premium Web होस्टिंग
  3. business web hosting hostinger
hostinger
  • अब आप इनमें से कोई भी plan select कर सकते हैं लेकिन अगर अब नई वेबसाइट बनाने जा रहे हैं तो हमारी राय माने तो आप Premium Web Hosting plan ही सेलेक्ट करें क्योंकि यह प्लान सबसे अच्छा और सस्ता है।
  • अब आप थोड़ा नीचे से कॉल करें और add to cart पर क्लिक करें।
  • अब आपको प्लान की अवधि चूस करने का ऑप्शन दिखाई देगा आप अपने हिसाब से 1 month, 12month, 24month, 48month वैसे आप कोई भी प्लान select कर सकते हैं लेकिन हम आपको सलाह देंगे कि आप 12 month का plan select करें क्योंकि इसके साथ आपको एक domain name free में मिल जाएगा।
hostinger plans
  • अब थोड़ा नीचे से कॉल करें आप चाहे तो google id या facebook id से signup कर सकते हैं नहीं तो अपनी email id देकर भी अपना अकाउंट बना सकते हैं।
  • अब थोड़ा नीचे scroll करने पर आपको payment का option मिल जाएगा आप credit card, upi, paytm, netbanking, paypal google pay मैं से कोई भी option select कर सकते हैं।
hostinger payment option
  • Hostinger से hosting buy करने से आपको SSL Certificate, one Domain Name, Cloudflare Protection फ्री में मिल जाएंगे।
  • अगर आपके पास coupan code है तो आप Have a coupon Code पर क्लिक करके कूपन कोड अप्लाई कर सकते हैं लेकिन अगर आपके पास coupan code नहीं है तो आप इंटरनेट पर सर्च कर सकते हैं आपको बहुत से कूपन कोड मिल जाएंगे जिसे आपको 10 परसेंट से लेकर 15 परसेंट तक का डिस्काउंट मिल जाएगा।
  • अब submit secured payment पर क्लिक करें।
  • अब आपसे आपका address पूछा जाएगा जिसे fill करने के बाद आप continue with payment के बटन पर क्लिक करें।
  • अब आपने जो भी payment option select किया था वह पेमेंट ऑप्शन ओपन हो जाएगा और पेमेंट कर दें paymentl होने के बाद अपने अकाउंट में login करें आपको वहां पर आपकी होस्टिंग नजर आ जाएगी।

अब अपने सीख लिया होगा कि होस्टिंग कैसे खरीदें लेकिन दोस्तों अगर आपको फिर भी कोई problem आ रही हो तो आप हमें commemt box में कमेंट करके जानकारी प्राप्त कर सकते हैं।

FAQ

होस्टिंग का उपयोग किस लिए किया जाता है?

होस्टिंग का उपयोग हमारी वेबसाइट का डाटा जैसे files, images, videos और भी अनेक प्रकार के डाटा को सेव करने के लिए किया जाता है हमारी वेबसाइट होस्टिंग पर ही होस्ट होती है।

क्या free hosting इस्तेमाल कर सकते हैं?

जी हां, बहुत सी ऐसी वेबसाइट है जो आपको free hosting प्रदान करती हैं लेकिन उनमें बहुत सी लिमिटेशंस होती हैं जिस कारण आप होस्टिंग के full features को इस्तेमाल नहीं कर पाते और आपको कस्टमर सपोर्ट भी नहीं मिल पाता अगर आप फ्री में होस्टिंग इस्तेमाल करना चाहते हैं तो आप infinityfree.net से फ्री में होस्टिंग ले सकते हैं।

Domain name और hosting में क्या अंतर है?

Domain name हमारी वेबसाइट क्या address है और hosting  हमारी वेबसाइट का घर है जहां पर हमारी वेबसाइट का सारा डाटा सेव होता है  आपके लिए यह जान लेना बहुत ही आवश्यक है कि domain name और hosting दोनों ही अलग-अलग चीजें हैं।

होस्टिंग खरीदने के लिए कितना पैसा खर्च करना पड़ता है?

ऐसी बहुत सी अलग-अलग कंपनियां है जहां से आप होस्टिंग खरीद सकते हैं और सभी का अलग-अलग price है लेकिन अगर हम hostinger की बात करें तो यहां पर आप shared होस्टिंग साल भर के लिए 3000 रुपए में खरीद सकते हैं जिसमें आपको 100 website host  कर सकते हैं और साथ में 100gb तक disk space भी मिलता है।

कौन सी होस्टिंग आपको होस्टिंग खरीदने के साथ domain name free में देती है?

ऐसी बहुत सी कंपनियां हैं जो आपको 1 साल का होस्टिंग प्लान खरीदने पर 1 साल के लिए डोमेन नेम भी फ्री में प्रदान करती है लेकिन अगर आप होस्टिंग कर से होस्टिंग सीखते हैं तो आपको यहां पर domain name के साथ साथ SSL Certificate और Cloudflare Protection भी फ्री में मिल जाते हैं जिसके लिए आपको कोई भी पैसा नहीं चुकाना पड़ता।

दोस्तों इस लेख में हमने आपको बताया है कि होस्टिंग क्या है होस्टिंग कितने प्रकार की होती है  hosting को कहां से खरीदे और कैसे खरीदें  होस्टिंग खरीदते समय किन बातों का ध्यान रखें

आपको इन सब चीजों के बारे में हमने इस लेख में बताया है और भी बहुत सी जानकारी होस्टिंग के बारे में इस लेख में बताई गई है।

मैं आशा करता हूं कि आपको हमारे द्वारा दी गई जानकारी पसंद आई होगी और आपके लिए लाभकारी होगी अगर आपको यह लेख पसंद आया हो तो कृपया इसे नीचे दिए गए shares के बटन पर क्लिक करके अपने दोस्तों के साथ शेयर करें ताकि उन्हें भी पता चल सके कि होस्टिंग क्या है और होस्टिंग का इस्तेमाल क्या होता है।

इस लेख में हमने hosting के बारे में आपको बहुत ही महत्वपूर्ण जानकारी प्रदान की है और हम यह समझते हैं कि अब आपको hosting के बारे में पूरा ज्ञान हो गया होगा लेकिन अगर आपको फिर भी कोई परेशानी हो तो आप हमें कमेंट बॉक्स में कमेंट करके पूछ सकते हैं।

आपका बहुत-बहुत धन्यवाद हमारा web होस्टिंग पर लिखा हुआ पूरा लेख पढ़ने के लिए आपका दिन शुभ रहे।

Kuljinder Singh जो कि इस website का owner है haryana में एक छोटे से विलेज gledwa से है जो kurukshetra का पास पड़ता है। लाइफ मे कुछ कर गुजरने कि चाहत लेकर 2020 मे reliance jio कि job छोड़कर Blogging को ही अपना carrier बनाया।  Read More Click Here

Leave a Comment

error: Alert: Content is protected !!
Copy link
Powered by Social Snap